बलियाः बैनामा मामले में बिल्थरारोड विधायक की बढ़ी फजीहत

सहकारी संघ अध्यक्ष ने बैनामा फर्जी बता रद्द करने की लगाई गुहार, एसडीएम को सौंपा ज्ञापन, सीएम-मंत्रालय को भेजा पत्रक

विजय बक्सरी

बलियाः बिल्थरारोड भाजपा विधायक द्वारा स्थानीय सहकारी संघ के समीप पिछले दिनों तीन डिसमिल भूमि कराएं गए बैनामा मामले में फजीहत बढ़ती जा रही है। रविवार को स्थानीय सहकारी संघ सभापति शिवदास यादव व जिला सहकारी संघ बलिया अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने सहयोगी साथियों संग मामले की जांच करने, बैनामा रद्द करने एवं संघ की भूमि को विधायक द्वारा कब्जे की नियत से किए जा रहे प्रयास पर रोक लगाने हेतु शासन-प्रशासन से गुहार लगाई। संघ अध्यक्ष ने इसे लेकर बिल्थरारोड एसडीएम अशोक चैधरी को ज्ञापन भी सौंपा और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, प्रदेश के सहकारी मंत्री व बलिया डीएम समेत उच्चाधिकारियों को पत्रक भी भेजा। सहकारी संघ अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि क्षेत्रीय विधायक धनंजय कन्नौजिया ने सत्तापक्ष का धौंस दिखाते हुए उक्त संघ की भूमि को गलत तरीके से कब्जा करने का साजिश रचा है। जो अपने मंसूबों में कभी कामयाब नहीं होंगे। आरोप लगाया कि भाजपा के ऐसे विधायक क्षेत्र के विकास के बजाएं सिर्फ अपने निजी विकास के लिए मानो भूमाफियाओं से गठजोड़ सा कर चुके है। जिनके खिलाफ सपा चरणबद्ध आंदोलन करेगी। सभापति शिवदास यादव ने कहा कि बिल्थरारोड सहकारी संघर सीयर की स्थापना आजादी से पूर्व ही हुआ था और इसके भवन व बाउंड्री का निर्माण सन 1948 में हो गयाा। भूअभिलेखों में क्रय-विक्रय सहकारी संघ के नाम खतौनी में आराजी नं. 208 ख, रकबा 0.3200 हेक्टेयर भूमि अंकित है। संघ की बाउंड्री के पश्चिम सीएचसी सीयर अस्पताल की बाउंड्री है। संघ के संस्था का निर्माण दानकर्ताओं की भूमि पर हुआ है। आ.नं. 216, रकबा 0.0120 हे. भूमि पर पहले से ही सरकारी अस्पताल एवं संघ की बाउंड्री खड़ी है। समस्त जनपद में सरकारी संस्थाओं का निर्माण दानकर्ताओं की भूमि पर हुआ है। जबकि स्व. मो. नुरलैन आदि के पूर्वजों का आ. नं. 216 रकबा 0.0120 हे. भूमि जहीरुद्दीन आदि के वारिसानों के नाम अब भी दर्ज है, जो गलत है क्योंकि अभिलेख में सरकारी कर्मचारियों की लापरवाही से संघ का नाम आ.नं. 216 पर नहीं दर्ज है। इसका लाभ उठाकर विधायक ने उक्त भूमि पर दो दिन में तीन डिसमिल भूमि का बैनामा अपने नाम कराया गया है। जिसके संबंद्ध भूमि को लेकर च. अ. सीयर मु. नं. 12154/28.04.69 को आदेश हुआ कि पुरानी आ. नं. 287/9 से जहीरुद्दीन आदि का नाम खारिज कर सहकारी संघ सीयर का नाम अंकित किया जाएं। किसी कारणवश दानकार्ताओं के वारिसान का नाम पुरानी आ.नं. 287/09 (जिसका नया आ.नं. 216, है) रकबा-03 डिसमिल पर चला आ रहा है। इस आधार पर 16 व 17 जून को विधायक ने सऊद अहमद, शकीना अहमद, नशीम आदि 21 लोगों से बैनामा करा लिया और सत्ता का धौंस दिखा विधायक स्वयं संघ की जमीन को कब्जा करना चाहते है। संघ के पदाधिकारियों ने एकस्वर से उक्त बैनामा निरस्त करने की मांग करते हुए सरकारी संघ की भूमि को अवैध कब्जे से रोकने हेतु विशेष आदेश जारी करने की मांग की। इस दौरान सहकारी संघ सभापति शिवदास यादव, जिला सहकारी संघ बलिया अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह, देवेंद्र यादव, बब्बन यादव, रुद्रप्रताप यादव, शशिकांत यादव, कृष्णकांत गोंड आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button