बलिया-सप्लाई बाबू पिटाई मामले में नया मोड़, लिपिक पर भी लगे गंभीर आरोप

हंगामा करने वाले के पक्ष में थाने पहुंचे भाजपाई, दी तहरीर, बाबू पर पांच सौ रुपया घुस मांगने व अभद्रता का लगाया आरोप

बलिया: बिल्थरारोड तहसील स्थित आपूर्ति कार्यालय के लिपिक विनोद यादव की पिटाई मामले में पुलिस ने घटना के तीसरे दिन शुक्रवार को मुदकमा तो दर्ज कर लिया किंतु हंगामा करने वाले आरोपी युवक के पक्ष में भाजपा के नेताओं ने मोर्चाबंदी की। आपूर्ति कार्यालय में हंगामा करने के आरोपी के पक्ष में क्षेत्रीय भाजपाई नेताओं ने शुक्रवार को थाना पहुंचकर अपना पक्ष रखा और तहरीर देकर लिपिक पर पांच सौ रुपया सुविधा शुल्क मांगने, नहीं देने पर हाथापाई करने व गाली गलौज कराने का अरोप लगाया। भाजपा नेता विनय सिंह, दिलीप सिंह, यशवंत सिंह चिंटू, निखिल सिंह बिट्टू, दुर्गा सिंह, गांधी, सुनील सिंह, विश्राम सिंह आदि ने उभांव थाना पहुंचकर आपूर्ति कार्यालय के लिपिक द्वारा आएं दिन लोगों संग अभद्रता करने व सुविधा शुल्क के बगैर कार्य न करने का आरोप लगाया। लिखित तहरीर में घटना का चर्चा करते हुए शक्ति सिंह ने कहा कि अपने पात्र गृहस्थी कार्ड बनवाने के लिए वह महीनों से कार्यालय का चक्कर लगा रहे थे। घटना के दिन ज्यों ही लिपिक ने शक्ति सिंह को देखा, पांच सौ रुपए की मांग की और तत्काल कार्य करवा लेने को कहा। पैसा न मिलने पर लिपिक ने गाली देते हुए धक्के मार कार्यालय से बाहर कर दिया और गलत आरोप लगाकर फर्जी मुकदमा कराने की धमकी दी। जिसका विरोध करने पर दोनों के बीच जमकर बकझक हुआ। इधर लिपिक विनोद यादव ने सभी आरोपों को गलत करार देते हुए कहा कि उन्हें पुलिस प्रशासन पर पूरा भरोसा है। मालूम हो कि बुधवार को बिल्थरारोड तहसील परिसर स्थित आपूर्ति कार्यालय पर राशन कार्ड को लेकर पहुंचे एक युवक ने जमकर हंगामा किया था और कार्यालय में तोड़फोड़ के साथ ही लिपिक की जमकर पिटाई कर दी थी।

तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज, लिपिक के खिलाफ भी दी गई तहरीर

उभांव इंस्पेक्टर योगेंद्र बहादुर सिंह ने बताया कि आपूर्ति लिपिक विनोद यादव संग कार्यालय में हाथापाई व हंगामा किए जाने के मामले में शक्ति सिंह, पंकज सिंह समेत दो नामजद व एक अन्य के खिलाफ भादवि की धारा 332, 353, 323, 504, 506 व 427 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। वहीं लिपिक विनोद यादव के खिलाफ भी शक्ति सिंह की तरफ से कार्यालय में पब्लिक संग दुव्र्यवहार करने व पात्र गृहस्थी कार्ड बनवाने के नाम पर पांच सौ रुपया सुविधा शुल्क मांगने संबंधित आरोप को लेकर लिखित तहरीर मिली है। जिसकी जांच की जा रही है। जांचोपरांत उच्चाधिकारियों के निर्देश के बाद कार्रवाई की जायेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button