कानपुर में बदमाशो के साथ मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद, सीएम योगी ने मांगी रिपोर्ट

आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के आरोपी विकास दुबे के भाई और मामा को पुलिस ने मार गिराया

कानपुर। यूपी के कानपुर में देर रात हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी जिसमें सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए और चार पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। घटना कानपुर में चौबेपुर थाना क्षेत्र के बिकरू गांव की है। यहां पुलिस बदमाश विकास दुबे को पकड़ने गई थी। इस घटना की जानकारी मिलते ही  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि दी और इस मामले की रिपोर्ट  मांगी।
कानपुर में हुई पुलिस मुठभेड़ के बाद शुक्रवार भोर से ही जिले के बॉर्डर पर पुलिस ने चेकिंग अभियान शुरू कर दिया कानपुर रोड के बॉर्डर के साथ-साथ जिले के सभी वार्डों पर पुलिस वाहन चेकिंग अभियान कर भागे हुए अपराधियों को तलाश रही है ।

यूपी के कानपुर में बिकरू गांव मे पुलिस और कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के साथियों के साथ हुई मुठभेड़ में सीओ और शिवराजपुर एसओ सहित सहित 8 पुलिसकर्मी के शहीद हाेने के बाद हरकत मे आई पुलिस ने शुक्रवार सुबह तक जारी मुठभेड़ में विकास दुबे के दो रिश्तेदार को ढेर कर दिया है। बताया जा रहा है विकास का मामा और चचेरे भाई मुठभेड़ में मारे गए हैं। पुलिस ने कानपुर मंडल के कानपुर, कानपुर देहात, कन्नौज, फर्रुखाबाद, इटावा, औरैया की सभी सीमाएं सील कर दी हैं। जीटी रोड पर स्थित गांव में हुई घटना के बाद से जीटी रोड पर जगह-जगह बैरियर लगाकर हो रही है संघन तलाशी ली गई। वहीं फॉरेंसिंक टीमें भी घटनास्थल पर जांच पड़ताल के लिए पहुंची है। अपराधी विकास के घर को चारों तरफ पुलिस तैनात कर दिया गया है। 

कानपुर , शहीद जवान 1-देवेंद्र कुमार मिश्र,सीओ बिल्हौर 2-महेश यादव,एसओ शिवराजपुर  3-अनूप कुमार,चौकी इंचार्ज मंधना 4-नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर  5-सुल्तान सिंह कांस्टेबल थाना चौबेपुर  6-राहुल ,कांस्टेबल बिठूर  7-जितेंद्र,कांस्टेबल बिठूर  8-बबलू कांस्टेबल बिठूर

कौन है विकास दुबे 25000 के इनामी विकास दुबे पूर्व प्रधान व जिला पंचायत सदस्य भी रह चुका है। इसके खिलाफ करीब 53 हत्या के प्रयास के मुकदमे चल रहे हैं।

कानपुर मुठभेड़ पर राहुल गांधी ने यूपी सरकार को घेरा, बोले – पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी ?

यूपी के कानपुर में देर रात हिस्ट्रीशीटर को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों की ताबड़तोड़ फायरिंग में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए। इस मामले पर राहुल गांधी ने ट्वीट कर लिखा है कि यूपी में गुंडाराज का एक और प्रमाण। जब पुलिस सुरक्षित नहीं, तो जनता कैसे होगी? मेरी शोक संवेदनाएँ मारे गए वीर शहीदों के परिवारजनों के साथ हैं और मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूँ।

कानपुर मुठभेड़ पर अखिलेश बोले, यूपी की सबसे शर्मनाक घटना, जल्द हो पर्दाफाश

लखनऊ । यूपी के कानपुर में एक हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई टीम पर हमले में शहीद पुलिस कर्मियों को सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने श्रद्धांजलि दी। अखिलेश ने ट्वीट कर कहा कि उप्र के आपराधिक जगत की इस सबसे शर्मनाक घटना में ‘सत्ताधारियों और अपराधियों ‘की मिलीभगत का ख़ामियाज़ा कर्तव्यनिष्ठ पुलिसकर्मियों को भुगतना पड़ा है। अपराधियों को जिंदा पकड़कर वर्तमान सत्ता का भंडाफोड़ होना चाहिए।

अखिलेश ने आगे लिखा कि उप्र की भाजपा सरकार अपनी पोलपट्टी खुलने के डर से आनन-फ़ानन में मुख्य अपराधी को न पकड़कर छोटी-मोटी मुठभेड़ दिखाने का नाटक करवा रही है। इससे पुलिसकर्मियों का मनोबल और गिरेगा तथा पुलिस का आक्रोश भी बढ़ेगा। सरकार तुरंत मुआवज़ा घोषित करे व परिजनों को हर संभव संरक्षण दे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button