विकास के कार्य दिखने चाहिए: मुख्यमंत्री 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अलीगढ़ मंडल के विकास कार्यों की जनपदवार समीक्षा की । अलीगढ़ हार्डवेयर का हब, रोजगार की असीम संभावनाएं: योगी । राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए सभी विधायकों/सांसद ने आभार जताया । 

लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने जनहित से जुड़े कार्यों को पूरी तत्परता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि शासन की नीतियों का लाभ जनता तक पहुंचे, यह सुनिश्चित किया जाए। निर्माण कार्यों में गुणवत्ता, टाइमलाइन और मानक का पूरा ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री , मंगलवार को अलीगढ़ मंडल में जारी और प्रस्तावित विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मुख्यमंत्री  ने अलीगढ़ में प्रस्तावित राजा महेंद्र प्रताप सिंह राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना को शासन की शीर्ष प्राथमिकता बताते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया है कि इस प्रोजेक्ट से जुड़े कोई भी प्रस्ताव लंबित न रखा जाए। मुख्यमंत्री  ने राजा महेंद्र प्रताप के सामाजिक अवदान का उल्लेख करते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय इतिहास के एक विशिष्ट नायक के प्रति कृतज्ञता ज्ञापन है। अलीगढ़ के मंडलायुक्त एवं जनपद अलीगढ़, हाथरस, कासगंज और एटा के जिलाधिकारियों से जनपदों में संचालित विभिन्न शासकीय योजनाओं की अद्यतन प्रगति की जानकारी प्राप्त करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने विकास कार्यों को तेजी से संचालित करने के निर्देश दिए।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विकास एवं जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से प्रदेश की जनता को लाभान्वित करने के लिए प्रतिबद्ध है। इस सम्बन्ध में किसी भी स्तर पर लापरवाही अथवा उदासीनता बरते जाने पर जवाबदेही तय की जाएगी।

निर्णय लेने में अनावश्यक देरी न करें अधिकारी:

मुख्यमंत्री  ने कहा कि विकास परियोजनाओं के लिए भूमि की उपलब्धता आवश्यक है। इसलिए इससे जुड़े प्रकरणों में तत्काल निर्णय लेते हुए समाधान निकाला जाए। विकास की गति को और तेज किए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि किसी भी स्तर पर लम्बित प्रस्ताव को तत्काल स्वीकृत किया जाए। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों को स्थानीय आवश्यकताओं के दृष्टिगत स्थानीय प्रशासन त्वरित निर्णय लें। मुख्यमंत्री ने विभिन्न जनप्रतिनिधियों से प्राप्त फीडबैक के आधार पर मुख्यमंत्री  ने कहा कि हर कार्य की टाइमलाइन तय की जाए। निर्धारित अवधि में कार्य के पूर्ण होने पर लागत में कमी आती है और जनता को विकास योजनाओं का समय से लाभ मिलता है। मुख्यमंत्री  ने कहा कि विकास कार्यों की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए भौतिक सत्यापन आवश्यक है। 70 फीसद कार्य पूर्ण होने पर स्थानीय प्रशासन शासन को यूसी प्रेषित करे। मुख्यमंत्री ने कहा कि टाइम लाइन के अनुसार विकास कार्य पूरे किए जाएं।

जनप्रतिनिधियों को विश्वास में लेकर कार्य करें अधिकारी:

मुख्यमंत्री जी ने जिलाधिकारियों को निर्देशित किया कि जनप्रतिनिधियों के प्रस्तावों पर तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। सभी विकास कार्यों के साथ जनप्रतिनिधियों की संबद्धता अवश्य रहे। कोई भी प्रशासकीय अधिकारी शिलान्यास अथवा लोकार्पण का कार्य न करे, यह समस्त कार्य जनप्रतिनिधियों द्वारा सम्पन्न कराया जाए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी पटल पर 03 दिन से अधिक पत्रावली लम्बित न रहे। विभागीय मुख्यालय में पत्रावलियां 7 दिन से अधिक लम्बित न रहें। देरी पर जवाबदेही तय की जाएगी।

पर्यटन विकास की नवीन संभावनाओं की करें तलाश:

पर्यटन के जरिये विकास की संभावनाओं पर बल देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जनपद कासगंज अंतर्गत प्रसिद्ध सोरों क्षेत्र के लिए पर्यटन विकास की ठोस कार्ययोजना बनाएं। यह क्षेत्र को पहचान तो देगा ही रोजगार भी सृजित करेगा। समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री ने ओडीओपी उत्पादों की ब्रांडिंग के लिए नियोजित भाव से कार्य करने पर भी जोर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि अलीगढ़ हार्डवेयर का हब है, यहां रोजगार की असीम संभावनाएं हैं। विभिन्न जनप्रतिनिधियों द्वारा सड़कों के सुदृढ़ीकरण की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि बरसात समाप्त हो चुकी है, सड़कों की गड्ढा मुक्ति का अभियान प्रारंभ करें। अलीगढ़ स्मार्ट सिटी परियोजना की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री  ने इस परियोजना को प्राथमिकता देते हुए तत्परतापूर्वक पूर्ण करने के निर्देश दिए। तो, राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कॉलेज, अलीगढ़ में आगामी अकादमिक सत्र से पठन-पाठन प्रारम्भ करने का लक्ष्य भी दिया। पुलिस लाइन कासगंज में आवासीय व अनावासीय भवनों के निर्माण कार्य को शीघ्रातिशीघ्र पूरा करने के निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने जनपद एटा में नगर सीवरेज योजना और अलीगढ़ पुनर्गठन पेयजल योजना को मार्च 2021 तक पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री जी ने जनपद एटा में निर्माणाधीन 100 शैय्या वाले मैटरनिटी विंग के निर्माण में विलम्ब न होने के संबंध में अधिकारियों को निर्देशित किया हो साथ ही जनपद एटा के तरगंवा में राजकीय महाविद्यालय का निर्माण कार्य दिसम्बर 2020 तक पूर्ण करने के निर्देश भी दिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button