बाल स्वास्थ्य पोषण माह शुरू,एक माह तक चलेगा अभियान

लाभार्थियों को घर से चम्मच लाने के लिए किया जा रहा प्रेरित , कोविड-19 को देखते हुए घर के चम्मच से विटामिन-ए का डोज लेने का परामर्श .

महराजगंज । एक माह तक चलने वाला बाल स्वास्थ्य पोषण माह ( बीएसपीएम )का शुभारंभ सोमवार से हो गया है। अभियान के दौरान इस बार लाभार्थियों को घर से चम्मच लाने की सलाह दी जा रही है। कोविड-19 को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने यह एहतियाती कदम उठाया है। यह जानकारी देते हुए डिप्टी सीएमओ डाॅ. आईए अंसारी ने बताया कि अभियान के लिए विटामिन-ए की पर्याप्त डोज जिले में उपलब्ध हैं। उन्होंने बताया कि यह अभियान आईसीडीएस विभाग के सहयोग से चल रहा है। उनके साथ भी समन्वय बैठक हो चुकी है। ब्लॉक स्तर से आशा कार्यकर्ताओं को निर्देशित किया गया है कि वह लाभार्थियों के परिवारीजनों को घर से चम्मच लाकर सोमवार, बुधवार और शनिवार के टीकाकरण सत्रों पर बच्चे को विटामिन-ए का डोज दिलवाने के लिए प्रेरित करें।

नौ माह से एक साल तक के बच्चे को एक एमएल डोज, जबकि एक साल से अधिक उम्र के बच्चों को दो एमएल डोज दिया जा रहा है। इस डोज के लेने से बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। चमड़े और बालों से संबंधित बीमारियों से बचाव होता है और खासतौर से रतौंधी की बीमारी से भी बच्चा प्रतिरक्षित हो जाता है। अभियान के दौरान आशा कार्यकर्ता लाभार्थी परिवारों को विटामिन-ए का महत्व और शीघ्र स्तनपान के लिए प्रेरित कर रही हैं और आयोडिन किट से आयोडिन की जांच भी कर रही हैं ।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. अंसारी ने बताया कि विटामिन-ए की एक बोतल से एक साल तक की उम्र तक के 100 बच्चे, जबकि उससे अधिक उम्र के 50 बच्चे दवा पी सकते हैं। बोतल के साथ आने वाली चम्मच से डोज नाप कर घरेलू चम्मच में दे दिया जाएगा ताकि बच्चे को सुरक्षित तरीके से विटामिन-ए की खुराक मिल सके। इस संबंध में आशा कार्यकर्ताओं को विस्तार से जानकारी दी गयी है। सत्र पर सभी लोग मॉस्क लगा कर आएंगे और शारीरिक दूरी का पालन भी करेंगे। सत्रों पर हैंडवॉशिंग के बाद ही टीकाकरण व डोज देने का काम किया जा रहा है।

3.41 लाख बच्चे हैं लक्ष्य

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने बताया कि इस बार 3.41लाख बच्चों को विटामिन-ए का डोज देने का लक्ष्य है। जिले में नौ माह से एक साल तक के 32997 बच्चे, एक से दो साल तक के 76267 लाख बच्चे और दो से पांच साल तक के 232295 लाख बच्चे अभियान के लिए चिन्हित किये गये हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button