‘‘डरिये मत, कोविड-19 टेस्ट के बाद ही होगी नसबंदी’’

कोरोना संक्रमण काल में स्वास्थ्य विभाग बरत रहा है एहतियात ,18 लाभार्थी हो चुके हैं पंजीकृत, कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर होगी नसबंदी ,पंजीकरण कराने वालों में 14 महिलाएं व चार पुरूष शामिल .

महराजगंज । जिले में चल रहे जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का खास ध्यान रखा जा रहा है। नसबंदी उन्हीं लोगों की होगी जिनका कोविड-19 टेस्ट हो जाएगा और कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आएगी। परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डॉ. राजेंद्र प्रसाद का कहना है कि लोग कोरोना से डरे बिना नसबंदी का साधन अपनाने के लिए आगे आ सकते हैं। उन्होंने यह भी बताया कि पिछले दस दिनों में नसबंदी कराने के लिए कुल 18 लोगों ने पंजीकरण कराया है, जिसमें 14 महिलाएं व चार पुरूष शामिल हैं। वहीं पर एक महिला की नसबंदी हो भी चुकी है।

नोडल अधिकारी ने बताया कि पंजीकरण कराने वालों में बृजमनगंज की चार महिलाएं, सदर की को दस महिलाएं व दो पुरूष और निचलौल के दो पुरूष शामिल हैं। इन सभी की नसबंदी कोविड-19 टेस्ट कराने के बाद होगी। उन्होंने कहा कि बृजमनगंज की दो महिलाओं का कोविड टेस्ट कराया गया है, मगर अभी रिपोर्ट नहीं आई है,। जबकि एक महिला का कोविड टेस्ट निगेटिव आने के बाद नसबंदी कराई जा चुकी है। पखवाड़े के दौरान परिवार नियोजन की न केवल स्थाई बल्कि अस्थाई विधियां अपना करके भी परिवार नियोजन अपनाने पर जोर दिया जा रहा है। इस दौरान आशा कार्यकर्ता व एएनएम द्वारा विशेष कर नव दंपतियों से संपर्क पर परिवार नियोजन की अस्थायी विधियों के बारे में जानकारी देकर सेवाएँ प्रदान की जा रही हैं है। इसी के साथ नसबंदी कराने को इच्छुक लोगों का पंजीकरण भी किया जा रहा है।
——-
245 को भाया अंतरा, 229 ने अपनाया पीपीआईयूसीडी

परिवार नियोजन एवं सामग्री प्रबंधक मुकेश त्रिपाठी ने बताया कि पखवाड़े के दस दिनों में जहां 245 महिलाओं ने परिवार नियोजन के लिए त्रैमासिक अंतरा इंजेक्शन लगवाया,जबकि 229 ने महिलाओं ने पीपीआईयूसीडी का सहारा लिया है।
उन्होंने कहा कि यदि किसी महिला को अंतरा इंजेक्शन लगवाने से कोई समस्या हो तो वह अंतरा हेल्पलाइन नंबर 1800 103 3044 पर अपनी समस्या बताकर समाधान कर सकती है।
——-
अन्य सेवाओं के लाभार्थी

आईयूसीडी-149
कंडोम-20258
छाया -1221
ईसी पिल्स-1272
—-
क्या है नसबंदी की विशेषता:-

-नसबंदी केवल उनके लिए सही है जिन्हें भविष्य में कोई बच्चा नहीं चाहिए।
-नसबंदी सरल, सुरक्षित और बहुत ही असरदार तरीका है ।
-बिना चीरा टाका वाला पुरुष नसबंदी एक छोटा सा आपरेशन है।
इसमें दोनों शुक्राणुओं की नलिकाओं को बाँध दिया जाता है।
-इसमें कुछ ही मिनट लगते हैं,चीरे और टाँके की जरूरत नही होती।
-इसमें कोई गंभीर शिकायत या परेशानी नहीं होती।
-पुरुष नसबंदी के बाद यौन इच्छा व क्षमता पहले की तरह बनी रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button