क्षय रोगियों को चिन्हित कर जांच और उपचार की राह दिखाएं- डॉ.विवेक

क्षय रोगियों को पहचानने व उपचार के लिए प्रशिक्षित किए गए चिकित्सक और सीएचओ

महराजगंज । राजकीय टीबी केन्द्र पर गुरूवार को प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में चिकित्सकों तथा कम्यूनिटी हेल्थ आफिसर्स (सीएचओ) को क्षय उन्मूलन के संबंध में प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण के दौरान जिला क्षय अधिकारी डॉ.विवेक श्रीवास्तव ने कहा कि ओपीडी में टीबी के जो संभावित मरीज मिलें उनकी पहचान कर जांच और उपचार की राह दिखाएं।
उन्होंने कहा कि यदि ओपीडी में कोई ऐसा मरीज आए जिसे दो सप्ताह से बुखार आ रहा हो, वजन घट रहा हो, भूख न लगती हो और खांसते समय खून आने की शिकायत हो तो उसकी जांच करा कर उपचार की सलाह दें। ऐसी शिकायत वाले टीबी के संभावित मरीजों को बलगम की जांच कराने के लिए नजदीक के अधिकृत बलगम जांच केन्द्र पर संदर्भित करें। जिले भर में बलगम की जांच के लिए 27 केंद्र स्थापित हैं। बलगम जांच में यदि कोई मरीज टीबी पॉजिटिव मिले तो अन्य आवश्यक जांच करा कर वजन के हिसाब से उपचार शुरू करावें।

उन्होंने यह भी कहा कि किसी कि टीबी के मरीजों को मिलने वाली सरकारी सहायता जैसे निक्षय पोषण योजना के बारें में लोगों को बताएं । साथ ही उसका पूरा विवरण निक्षय पोर्टल पर अपलोड कराएं ताकि पात्रों को उसे योजना का लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि सरकार 2025 तक देश को टीबी रोग से मुक्त करने के लिए सतत प्रयत्नशील है। ऐसे में स्वास्थ्य विभाग की भी जिम्मेदारी बढ़ जाती है ताकि सरकार का सपना साकार हो सके। इससे पहले भी जिले के निजी चिकित्सकों, आयुर्वेदिक एवं यूनानी चिकित्सकों तथा राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम से जुड़े चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया जा चुका है। प्रशिक्षण लेने वाले प्रशिक्षणार्थियों में डॉ.गिरीश चंद, डॉ. सैयद जिसान हासमी, डॉ. शास्वत सेन गुप्ता, डॉ. गौरव सिंह, डॉ. मोहम्मद हसन अंसारी, डॉ. उमर, डॉ.मनीष कुमार,डॉ. खालिद, कम्यूनिटी हेल्थ आफिसर शिखा सिंह, नेहा चौधरी, ममता, राखी वर्मा, उमाशंकर, विवेक गुप्ता और विवेक पांडेय प्रमुख तौर पर शामिल रहे।
——-
यहाँ होती है बलगम की जांच

जिला कार्यक्रम समन्वयक हरिशंकर त्रिपाठी ने बताया कि जिन 27 केंद्रों पर बलगम जांच की सुविधा है, उसमें जिला क्षय रोग केन्द्र, जिला अस्पताल, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र घुघली, परतावल, मंसूरगंज, सिसवा, निचलौल, मिठौरा, नौतनवा,लक्ष्मीपुर, अड्डा बाजार, बृजमनगंज, धानी, फरेन्दा, अर्बन हेल्थ सेंटर, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पनियरा, रतनपुर, बहदुरी, तथा नया प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पुरंदरपुर,कोल्हुई, बरगदवा, जहदा, लक्ष्मीपुर, श्यामदेउरवा और हरपुर महंथ केंद्र शामिल हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button