पुरूष नसबंदी व अंतरा इंजेक्शन के बारे में खासतौर पर प्रेरित करें आशा-एएनएम

सभी आशा व एएनएम एक-एक पुरुष व एक-एक महिला को जरूर नसबंदी की सेवा दिलाएं, जनसंख्या स्थिरता में पुरूषों की भागीदारी भी जरूरी

कुशीनगर| परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी व डिप्टी सीएमओ डाॅ.संजय गुप्ता ने सभी आशा व एएनएम को निर्देशित किया है कि पुरुष नसबंदी तथा अंतरा इंजेक्शन अपनाने के बारे में ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रेरित करें। जिन दंपत्ति का परिवार पूरा हो गया हो उन्हें परिवार नियोजन की स्थायी सेवा लेने के लिए प्रेरित करें तथा जिन लोगों को पहला बच्चा हो उन्हें दो बच्चों के जन्म में अंतर के लिए त्रैमासिक अंतरा इंजेक्शन लगवाने के जागरूक करें।

उन्होंने कहा कि इन दिनों जनसंख्या स्थिरता पखवाड़ा मनाया जा रहा है, इसके क्रम में दंपत्ति से संपर्क कर परिवार नियोजन की सेवाओं के प्रति लोगों को जागरूक करें। नसबंदी कराने को इच्छुक लोगों की सूची तैयार करें तथा सेवा दिवस पर ले जाकर नसबंदी कराने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सभी आशा व एएनएम एक-एक पुरूष व एक-एक महिला को जरूर नसबंदी की सेवा दिलाएं

नसबंदी के कब और कहाँ आयोजित होंगे सेवा दिवस

डिप्टी सीएमओ डाॅ. संजय गुप्ता ने बताया कि नौ जुलाई को मोतीचक में, 12 को तमकूही, तरयासुजान व खड्डा में, 13 को फाजिलनगर, कप्तानगंज व नेबुआ नौरंगिया में, 15 को रामकोला, 17 को कुबेरस्थान, 19 को विशुनपुरा, 20 को दूदही व कसया में नसबंदी के लिए सेवा दिवस आयोजित किये जायेंगे।

इसी प्रकार 22 जुलाई को नेबुआ नौरंगिया व सुकरौली में, 23 को खड्डा, 24 को तरयासुजान, 26 को कप्तानगंज व रामकोला, 27 को कुबेरस्थान तथा फाजिलनगर, 29 को खड्डा व विशुनपुरा, 30 को मोतीचक तथा 31 जुलाई को दुदही में नसबंदी के लिए सेवा दिवस आयोजित होंगे।

पुरुष नसबंदी की विशेषता:
-नसबंदी उनके लिए सही है जिन्हें भविष्य में कोई बच्चा नहीं चाहिए।
-नसबंदी सरल, सुरक्षित और बहुत ही असरदार तरीका है।
-बिना चीरा टांका वाला पुरुष नसबंदी एक छोटा सा आपरेशन है। इसमें दोनों शुक्राणुओं की नलिकाओं को बाँध दिया जाता है।
-इसमें कुछ ही मिनट लगते हैं। चीरे और टाॅके की जरूरत नहीं होती।
-इसमें कोई गंभीर शिकायत या परेशानी नहीं होती।
-पुरूष नसबंदी के बाद यौन इच्छा व क्षमता पहले की तरह बनी रहती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button