नए साल में राजधानी समेत 10 शहरों में बनेंगी पीआरडी कंपनियां

हर कंपनी में अनिवार्य रूप से भर्ती होंगी 11 महिलाएं

लखनऊ । अगले साल शहर के युवाओं और युवतियों को भी प्रांतीय रक्षक दल (पीआरडी) में रोजगार के अवसर मिलेंगे। अब तक केवल ग्रामीण क्षेत्रों में ही पीआरडी जवानों की भर्ती होती थी पर अब शहर के युवाओं को भी इनमें काम करने का अवसर मिलेगा। लखनऊ समेत प्रदेश के दस बड़े शहरों में पीआरडी की कंपनियों के गठन का कार्य शुरू हो गया है। पहले चरण में लगभग 1,050 जवानों की भर्ती की जाएगी। लखनऊ, आगरा, अलीगढ़, वाराणसी, प्रयागराज, बरेली, मेरठ, कानपुर, मुरादाबाद और गोखपुर में शहरी कंपनियां बनेंगी।

एक कंपनी में होगें 105 जवान

एक कंपनी में 105 जवानों की तैनाती की जाएगी। इसमें अनिवार्य रूप से एक सेक्‍शन में 11 महिलाओं की भर्तियां की जाएंगी। इन युवाओं को चयनित कर उनको 22 दिवसीय प्रशिक्षण दिया जाता है। इसके साथ समय-समय पर 15 दिवसीय प्रशिक्षण देकर उनको ड्यूटी के लिए दक्ष किया जाता है। बता दें कि प्रदेश में पीआरडी में 45,000 जवान तैनात हैं।

71 साल बाद बन रहींं शहरी कंपनी

पीआरडी को एक सुरक्षा बल के रूप में 1948 में स्‍थापित किया गया था। एक्‍ट में शहरी कंपनी का प्रावधान था पर बीते 71 साल से इस बात पर किसी ने भी ध्‍यान नहीं दिया। विभाग की अपर मुख्‍य सचिव व महानिदेशक डिपंल वर्मा ने एक्‍ट के इस प्रावधान को आगे बढ़ाया और सरकार ने अपनी स्‍वीकृति प्रदान की। उपनिदेशक अजातशत्रु शाही बताते हैं कि शहरी कंपनी में लखनऊ व अन्‍य शहरों में 20 जवानों से भर्ती शुरू हुई हैं। शासन की अनुमति के बाद आगे नियुक्तियां की जाएंगी।

सुश्री डिंपल ने बताया कि भर्ती के बाद जवानों को 22 दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस समय प्रांतीय रक्षक दल में 18 से 60 आयु वर्ग में कुल 45 हज़ार लोग कार्यरत हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button