जेई-एईएस मामले में उच्च जोखिम 50 गाँवों में चलेगा विशेष अभियान

निरोधात्मक गतिविधियों पर नजर रखेगी चार सदस्यीय समिति

महराजगंज । जापानी इंसेफ्लाइटिस ( जेई) और एक्यूट इंसेफ्लाइटिस सिंड्रोम (एईएस) के मामले वाले उच्च जोखिमयुक्त पचास गाँवों में बीमारियों की रोकथाम के लिए 23,जून (बुधवार) से विशेष अभियान चलेगा। इन गांवों में होने वाली निरोधात्मक गतिविधियां समुचित रूप से संपन्न कराने के लिए चार सदस्यीय टीम गठित की गयी है। टीम में खंड विकास अधिकारी, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, एबीएसए तथा सीडीपीओ को शामिल किया गया है। टीम के अधिकारी रोकथाम के लिए संचालित होने वाले अभियान तथा निरोधात्मक कार्यवाही को प्रभावी ढंग संपन्न कराएंगे।

मुख्य विकास अधिकारी गौरव सिंह सोगरवाल ने बताया कि उच्च जोखिम गाँवों के लिए गठित चार सदस्यीय टीम के अधिकारी अपने विभाग से जुड़ी गतिविधियां संचालित कराएंगे। खंड विकास अधिकारी अपने क्षेत्र के उच्च जोखिम गाँवों में साफ-सफाई, फागिंग, छिड़काव, जल निकासी,प्रभारी चिकित्सा अधिकारी स्वास्थ्य सेवाओं, एबीएसए छात्र-छात्राओं और शिक्षकों के माध्यम से जागरूकता कार्यक्रम चलाएंगे तो बाल विकास परियोजना अधिकारी अपने आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के माध्यम से सर्दी, जुकाम, बुखार सहित अन्य रोगों से ग्रसित लोगों की लाइन लिस्टिंग कराएंगे। सभी गतिविधियां व कार्यक्रम कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए संपन्न कराया जाएगा।

उच्च जोखिम गाँवों की सूची में शामिल हैं यह गांव

जिल मलेरिया अधिकारी त्रिभुवन चौधरी ने बताया कि जेई-एईएस के मामले में जो पचास गांव चिन्हित हैं उनमें अमरुतिया, चेहरी, धनेवा धनेई, करमहा, खेमपिपरा, लखिमा, महराजगंज, नटवा, रामपुर महुअवा, बहदुरी, कोल्हुई, खेसरारी, सिसवा, बैरवा चंदनपुर, हथियागढ़, महदेवा, औराटार, बरगद बसंतनाथ, हरतोड़वा, पनेवा पनेई, धानी, घुघली, लक्ष्मीपुर और पुरैना शामिल हैं।
इसी प्रकार बजही, जयश्री, निचलौल, शीतलापुर, भवानीपुर, परतावल, रामपुर उपाध्याय, श्यामदेउरवा, लेजार महदेवा, जंगल जरलहा, रूदलापुर, दरबार, मरचहवा लक्ष्मीपुर, बैकुंठपुर, महदेइया, सेवतरी, बरगदवा विशनपुर, कोटा मुकुंदपुर, पतरेगवा, चौक बाजार, ओड़वलिया, हरगांवा,मथुरा नगर और खोरिया बाजार में आदि गांव के नाम शामिल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button