सरकार का विवेक मर चुका है-प्रियंका गांधी

लखनऊ । भारतीय राष्ट्रीय कंाग्रेस की महासचिव एवं प्रभारी उ.प्र.  प्रियंका गांधी आज मथुरा में जय जवान-जय किसान अभियान के तहत किसान पंचायत को सम्बोधित करने मथुरा पहुंची। किसान पंचायत को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव श्रीमती प्रियंका गांधी ने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि मैं आज पवित्र धरती पर खड़ी हूं। उन्होने बांके बिहारी जी की जयकार लगाते हुए कहा कि यह धरती मथुरा की धरती है। यह धरती अहंकार को तोड़ती है। भगवान श्रीकृष्ण ने अहंकार में डूबे इंद्रदेव जी के अहंकार को तोड़ने के लिए गोवर्धन पर्वत को उठाकर इस धरती के लोगों की रक्षा की।

श्रीमती प्रियंका गांधी ने कहा कि आज भाजपा सरकार ने भी अन्नदाता के लिए अहंकार पाल लिया है। देश के लाखों किसानों जिन्होंने इस देश की जमीन को सींचा, जिन्होंने इस देश को जीवित रखा है, जिन्होंने इस देश की सीमा पर अपने बेटों को आपके लिए हमारी सुरक्षा के लिए शहीद होने भेजा। आज वह किसान सड़क पर बैठा है। 90 दिनों से देश की राजधानी के बॉर्डर पर अपने अधिकारों की लड़ाई वह किसान लड़ रहा है। 215 किसान शहीद हुए। 90 दिनों से अपने अधिकारों की मांग करते हुए सड़क पर बैठे रहे। इस सरकार ने बिजली काटी, पानी बंद किया, मारपीट कराइर्, उन्हें प्रताड़ित किया, लेकिन उनकी बात नहीं सुनी, उनकी सुनवाई नहीं की। प्रधानमंत्री जी जो अपने शासनकाल में दुनिया के हर कोने तक पहुंच गये वह दिल्ली इस देश की राजधानी जिसमें वो रहते हैं उसके बॉर्डर तक नहीं पहुंच पाए। आप किसानों से बात करने के लिए ना वह आए ना उन्होंने किसी को भेजा। जब नेता का अहंकार इतना बढ़ जाता है कि वह जनता से अलग हो जाता है तो उसकी नीतियां जनता से भी अलग होती हैं और वह जनता की भलाई के लिए नहीं बनती। कवि रामधारी सिंह दिनकर जी ने कहा था -जब नाश मनुज पर छाता है पहले विवेक मर जाता है। इस सरकार का विवेक मर चुका है। भगवान कृष्ण इनका भी अहंकार तोड़ेंगे।

श्रीमती प्रियंका गांधी ने कहा कि गौशालाओं का बुरा हाल है। आवारा पशुओं से आप एकदम प्रताड़ित हैं। जो किसान हैं रात भर अपनी खेती की रखवाली करता है किसान अपनी खेती को बचाने के लिए पशुओं से और दिन भर धूप में काम करता है। इस सरकार ने आपसे बहुत वादे किये आज भी आप बहुत प्रताड़ित हैं जैसे आप 2019 से हैं। गौशालाएं किस स्थिति में हैं आप जानते हैं। चाहे हाथरस मंे हो, चाहे यहां हो, चाहे बुंदेलखंड में, तमाम वीडियो निकले जहां गोवंश की स्थिति देखी, ना चारा मिल रहा था ना पानी, अन्य जानवर उनको चबा रहे थे उनको काट रहे थेपड़े रहे थे जानवर धूप में, उनको कोई मदद के लिए नहीं आया इस तरह से चल रही गौशाला है। इस सरकार ने गौशालाओं के नाम पर 200 करोड़ आवंटित किए हैं। 200 करोड़ आवंटित किए हैं लेकिन गौशाला में पैसे नहीं । मैं पूछना चाहती हूं कि कहां गए वह पैसे? अभी हाल में आगरा के गोवंश में मृत्यु हुई। मथुरा राजपुर नगर पंचायत गौशाला में गोवंश का बुरा हाल है इन लोगों को सीख लेनी चाहिए कि कैसे खुद के त्याग से गायों का पालन पोषण होता है। लेकिन स्थिति बहुत दर्दनाक है। यह मतलब है कि आज किसान पूरी तरीके से प्रताड़ित है। हर तरफ से उस पर वार हो रहा है। श्रीमती गांधी ने कहा कि इस बीच सरकार ने अपने महान विवेक से तीन नये कृषि कानून बनाये जो बड़े-बड़े खरबपतियों, उद्योगपतियों को जमाखोरी की पूरी तरह से छूट देता है। 1955 में जवाहरलाल नेहरू ने जमाखोरी को बंद करने के लिए कानून जारी किया था तब से आज तक उस कानून के तहत जमाखोरों पर रोक होती है। आज सरकार ने जमाखोरी पर पूरी तरह से छूट कर दी है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि आज वह समय आ गया है कि सच्चाई आपके सामने है। जो भी आपको चुनाव के समय कहते हैं जितने वादे आपसे किए हैं वह सारे झूठ निकले। सच्चाई आपके सामने हैं और सच्चाई यह है कि यह सिर्फ अहंकारी प्रधानमंत्री नहीं है यह कायर प्रधानमंत्री भी हैं। क्योंकि जैसे ही इनकी नीतियों पर और उनके निर्णयों पर सवाल उठता है एकदम पीछे हटते हैं जिम्मेदारी नहीं लेते। एकदम पीछे हटकर किसको दोषी ठहराते हैंैं पिछली सरकारों को। यह कायरता है इनकी। निर्णय लिया है जिम्मेदारी लो। जनता को निर्णय पसंद नहीं है आप जिम्मेदारी लो और निर्णय को बदलो। जनता की बात को स्वीकार करो। यह हिम्मत नहीं है इनमें। इनमें अहंकार है और पूरी तरह से कायर हैं।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण इस सरकार का अहंकार भी तोड़ेंगे। इस सरकार को भी भगवान श्रीकृष्ण की वाणी सुनाई देगी कि जो जनता कहती है वह सही है। जो धर्म कहता है वह यही है कि जनता सबसे महत्वपूर्ण है। हर नेता का यही धर्म है, और इस सरकार के अहंकार को खत्म करने के लिए जितना भी संघर्ष करना पड़े हम करेंगे। आज मैं यही सब आपसे कहना चाहती थी। यहां सरकार से पीड़ित कुछ लोग, एक लड़की मुझसे मिलना चाहती थी, मैं कहना चाहती हूं कि आप घबराइए नहीं, मैं आपसे अलग से बात करूंगी और मैं एक बार फिर आप सभी को धन्यवाद देते हुए कहना चाहती हूं कि जो किसान भाई शहीद हुए हैं उनके लिए हम 2 मिनट का मौन रखें। अपने मथुरा प्रवास के दौरान श्रीमती प्रियंका गांधी ने बांके बिहारी मंदिर में जाकर पूजा अर्चना कर प्रदेश की जनता विशेषकर किसान भाई-बहनों के लिए आर्शीवाद मांगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button