बलिया में विवेक चैधरी हत्याकांड का हुआ खुलासा, तीन गिरफ्तार

मंगेतर को मैसेज भेजने के कारण चाकू से गला रेत किया था हत्या

बलियाः एसओजी टीम की मदद से नरही थाना पुलिस ने क्षेत्र के चर्चित विवेक चैधरी हत्याकांड का तीसरे दिन ही खुलासा कर दिया और मामले में तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने अभियुक्तों के निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त खून सनी चाकू व लोडेड तमंचा भी बरामद कर लिया। नरही थाना के भरौली गांव में गत 8 जुलाई को विवेक चैधरी की धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। मामले में पुलिस अधीक्षक बलिया देवेंद्रनाथ द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के तहत उक्त हत्याकांड के खुलासा हेतु अपर पुलिस अधीक्षक बलिया व क्षेत्राधिकारी सदर के नेतृत्व में टीम गठित किया गया था। जिसके तहत नरही पुलिस व एसओजी टीम बलिया ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए शुक्रवार की रात हत्याकांड के तीन अभियुक्तों को दबोच लिया। नरही इंस्पेक्टर ज्ञानेश्वर मिश्रा, स्वाट टीम प्रभारी राजकुमार सिंह व सर्विलांस टीम के संयुक्त कार्रवाई में पुलिस ने धनजी चैधरी पुत्र बल्ली चैधरी ग्राम भरौली थाना नरही जनपद बलिया, विजय चैधरी पुत्र स्व. हरिलाल चैधरी ग्राम नरवतपुर थाना मुफसिल जनपद बक्सर बिहार व जितेन्द्र चैधरी पुत्र स्व. हरिलाल चैधरी ग्राम नरवतपुर थाना मुफसिल जनपद बक्सर बिहार को शुक्रवार की रात 11 बजे के आसपास गंगा नदी पर बने वीर कुंवर सिंह सेतु भरौली पुल से गिरफ्तार किया। जिनके पास से हत्या में प्रयुक्त एक चाकू व 315 बोर का एक तमंचा व दो जिन्दा कारतूस बरामद किया। हत्याकांड का खुलासा करते हुए इंस्पेक्टर ज्ञानेश्वर मिश्र ने बताया कि बिहार के बक्सर जिला निवासी गिरफ्तार विजय चैधरी के बड़े भाई जितेन्द्र चैधरी की शादी बलिया जनपद के ग्राम भरौली में बल्ली चैधरी की पुत्री सवीता चैधरी से हुई थी। भाई की ससुराल होने के कारण विजय अक्सर भरौली आता-जाता था। बाद में विजय की शादी भी जितेंद्र की साली से होनी तय कर दी गई। जबकि मृतक विवेक चैधरी अक्सर विजय चैधरी के मंगेतर से मोबाइल फोन से बात करता था और व्हाटशप पर तरह-तरह के मैसेज भेजता था। जिसकी जानकारी होने पर लड़की के परिजन व विजय चैधरी ने उक्त विवेक चैधरी को कई बार समझाया और उक्त युवति से किसी तरह का संपर्क न रखने का दबाव दिया। बावजूद विवेक चैधरी का संपर्क जारी रहा। जिससे खिन्न विजय ने अपने भाई जितेंद्र चैधरी व साला धन जी चैधरी के साथ मिलकर गांव के एक खण्डहरनुमा मकान में विवेक को बुलाया और उसके हाथ-पैर बांध चाकू से गला रेत दिया। घटना को अंजाम देने के बाद सभी मौके से भाग निकले। उक्त अभियुक्तों को पकड़ने में नरही थाना के प्राभारी निरीक्षक ज्ञानेश्वर मिश्रा, एसआई दिनेश पाठक, एसओजी प्रभारी राजकुमार सिंह, दरोगा एसओजी संजय सरोज सिपाही राहुल प्रसाद, जगजीवन, मुकेश कुमार आदि शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button