वाहन लिफ्टर गैंग का भंडाफोड़ ,17 वाहन बरामद

महाराजगंज। जनपद पुलिस द्वारा आज वाहन लिफ्टर गैंग का भंडाफोड़ करते हुए उनके पास से 17 वाहन को भी बरामद कर लिया , साथ ही वाहन लिफ्टर गैंग के तीन सदस्यों को पकड़ कर जेल भेज दिया। यह वाहन लिफ्टर गैंग तीन जनपदों से वाहन चोरी करके नेपाल में बेच देते थे। पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने आज प्रेसवार्ता के दौरान बताया कि अपर पुलिस अधीक्षक के पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी सदर के कुशल नेतृत्व में थाना कोतवाली उप निरीक्षक दिनेश कुमार अपने।हमराहियों के साथ चिउरहा नहर पुलिया पर चेकिंग कर रहे थे कि सामने से एक मोटरसाइकिल आती हुई दिखाई दी, जिसे हाथ देकर रोकने का प्रयास किया गया तो वाहन चालक गाड़ी को मोड़ कर भागना चाहा, जिसे वहां मौजूद पुलिस टीम द्वारा घेर-घार कर पकड़ लिया गया।

वाहन लिफ्टर गैंग का भंडाफोड़ ,17 वाहन बरामद

पकड़े जाने के बाद अभियुक्त से नाम पता वह भागने का कारण व गाड़ी का कागज पूछा व मांगा गया तो अभियुक्त अशरफ जो स्पलेण्डर प्लस गाड़ी नंबर यूपी 56 वी 3341 को चला रहा था तथा दूसरा अभियुक्त शोएब बैठा था कागज मांगने पर गाड़ी का कागज नहीं दे पाए भागने का कारण पूछा गया तो बताया कि यह गाड़ी पुरंदरपुर मोहनापुर से चुराए हैं । इसे लेकर हम अपने गिरोह के पास जा रहे हैं। इस बात पर विश्वास कर उपनिरीक्षक दिनेश कुमार ने प्रभारी निरीक्षक कोतवाली मनीष कुमार सिंह को जरिए दूरभाष घटना से अवगत कराया। जिस पर प्रभारी निरीक्षक और स्वाट टीम के घटनास्थल पर आए और कड़ाई से पूछताछ करने लगे। कड़ाई से पूछताछ करने पर शोएब ने बताया कि हम लोग का एक गिरोह है, जिसमें एक अभियुक्त नजरे आलम रेकी करता है। गाड़ियों को अपने मखदूम ऑटो सर्विस सेंटर मे छिपाता है, जहां पर हम लोग गाड़ियों की पहचान छिपाने के लिए गाड़ियों का नंबर बदल देते हैं और ग्राहक खोज कर बेच देते हैं जो रुपए मिलता है उसे आपस में बांट लेते हैं।

कड़ाई से पूछताछ करने पर दोनों अभियुक्तो ने बताया कि हम लोगों ने पहले भी महराजगंज से कुछ गाड़ियों को चुराकर नेपाल में बेचा है। यह जो आपने 15500 रु0 हमारे पास से पाए हैं, वह उन्हीं बेची हुयी गाड़ियों के कुछ बचे हुए पैसे हैं। अभियुक्त शोएब की निशानदेही पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली, चौकी प्रभारी नगर उप निरीक्षक दिनेश कुमार व स्वाट टीम के साथ मखदूम ऑटो सर्विस सेंटर गोपलापुर थाना फरेंदा पहुंचे जहां पर अभियुक्त नजरे आलम मिला तथा सर्विस सेंटर भवन को चेक किया गया तो वहां पर चोरी की 16 मोटरसाइकिल बरामद हुई । बरामदगी के आधार पर थाना स्थानीय पर मुकदमा अपराध संख्या-274 /21 धारा- 379, 411, 413, 414, 419, 420, 467, 468, 471 भा0द0वी0 पंजीकृत कर विधिक कार्रवाई की जा रही है।पुलिस अधीक्षक द्वारा इस सराहनीय कार्य के लिए पूरी टीम को 25000 रु0 ईनाम घोषित किया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button