डब्ल्यूएचओ ने डीएम को सौंपा दो हजार से अधिक मॉस्क

कोरोना को काबू में करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन की पहल। जरूरतमंदों के बीच वितरित किया जाएगा मॉस्क।

कुशीनगर :  विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने जिला प्रशासन को दो हजार से अधिक एन-95 मॉस्क गुरुवार को सौंपा है। प्रशासन इन मॉस्क को कोरोना को काबू में करने के लिए जरूरत मंदों में वितरित कराएगा। कोरोना के केस में इन दिनों भले ही कुछ गिरावट दर्ज की जा रही है, मगर अभी सतर्कता बेहद जरूरी है। इसी सतर्कता व सावधानी के मद्देनजर डब्ल्यूएचओ ने उक्त मॉस्क जिला प्रशासन को सौपा है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी एस.राज लिंगम, मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, अपर जिलाधिकारी विन्ध्यवासिनी राय, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ.नरेन्द्र गुप्ता, डब्ल्यूएचओ के जोनल को आर्डिनेटर डॉ.सागर घोडेकर आदि अधिकारी मौजूद रहे। जिला प्रशासन को उक्त मॉस्क डब्ल्यूएचओ के सर्विलांस मेडिकल आफिसर डॉ.अंकुर सांगवान ने सौंपे।

इस अवसर पर जिलाधिकारी एस.राजलिंगम ने कहा कि कोविड काल में विश्व स्वास्थ्य संगठन का सहयोग सराहनीय है। कोरोना को काबू में करने के लिए अभी भी हमें जागरूकता, अधिक से अधिक लोगों की कोरोना जांच और कोविड टीकाकरण पर जोर देना होगा।
मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक ने कहा कि दो गज की दूरी, मॉस्क है जरूरी के स्लोगन को प्रभावी रूप से अमल में लाना होगा, ताकि कोरोना के प्रसार को रोकने में कामयाबी मिल सके।

कोरोना से बचने के लिए यह व्यवहार अपनाने को करें प्रेरित

-थ्री लेयर मॉस्क पहनें।
-दो गज की दूरी बना कर रखें।
-हाथों को साबुन पानी या सेनेटाइजर से साफ रखें।
-नाक, आंख और मुंह को न छुएं
-खांसते-छींकते समय रूमाल, टिश्यू पेपर या हाथों को कोहनी का इस्तेमाल करें।
-अपनी बारी आने पर कोविड का टीका अवश्य लगवाएं।
– कोविड के लक्षण दिखे तो आइसोलेट होकर जांच एवं इलाज शुरू करें।
-भीड़भाड़ वाले स्थान पर जाने से बचें।
-अगर घर से बाहर निकलना पड़े तो उपरोक्त व्यवहारों को अपनाने के बाद भी घर आकर नहाएं और कपड़े धुल लें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button